- Advertisement -spot_img
Tuesday, November 29, 2022
HomeCricketसाइबर थाना एनआईटी की टीम ने नेहरु कॉलोज में छात्र-छात्राओं को सेक्सटॉर्शन...

साइबर थाना एनआईटी की टीम ने नेहरु कॉलोज में छात्र-छात्राओं को सेक्सटॉर्शन व साइबर अपराध के सम्बंध में किया जागरुक

- Advertisement -spot_img

फरीदाबाद- हरियाणा पुलिस द्वारा मनाए जा रहे साइबर जागरुकता माह के अंतर्गत जिला साइबर अपराध नोडल अधिकारी डीसीपी नीतिश अग्रवाल के दिशा-निर्देश के तहत कार्रवाई करते हुए साइबर थाना एनआईटी प्रबंधक बसंत कुमार ने अपनी टीम के साथ आज नेहरु कॉलोज में पहूंच कर 500 से अधिक छात्र-छात्राओं को सेक्सटॉर्शन व साइबर अपराध के संबधं में जागरुक करते हुए इससे बचाव के तरीकों के बारे में जानकारी दी है। इस अवसर पर पुलिस टीम के साथ कॉलेज के सभागार में कॉलेज के प्रधानाचार्य Dr. M.K Gupta, श्री सुरेन्द्र सिंह, श्रीमती रनजीता जून,शल्लू हस्सीजा,रशमी गेरा और सोनीका के साथ मौजूद रहे।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि एडीजीपी क्राइम हरियाणा ओ.पी. सिंह के द्वारा दिए गए दिशा निर्देश के तहत पूरे हरियाणा में अक्टूबर माह को साइबर जागरुकता माह के रुप में मनाया जा रहा है। इस अभियान के तहत फरीदाबाद में प्रति दिन लोगो को तीनों जॉन के साइबर थाना पुलिस टीम के द्वारा साइबर अपराध के संबंध में जागरुक कर इससे बचाव के तरीकों के बारे में जानकारी दे रही है। अजकल साइबर अपराध से लोगो को नए नए तरिके से ठगा जा रहा है। उन्होने बताया कि आज कल साइबर के सम्बंध में सेक्सटॉर्शन की वारदात सामने आ रही है। कुछ छात्र-छात्रा इंटरनेट सर्फिंग सावधानी से नहीं करते हैं। जिसमें कुछ अपराधी किस्म के लोग उन्हे अपना शिकार बना लेते है। इसमें से सेक्सटॉर्शन एक साइबर ठगों का बुना जाल है, जिसके जरिए कुछ लोग फंसकर अपनी कमाई दे देते हैं। इस तरह के मामले देश भर में बढ़ रहे हैं। इसमें कई हाईप्रोफाइल लोगों को भी शिकार बनाया गया है। इस अपराध को अधिकतर व्हाट्सएप के माध्यम से अंजाम दिया जाता है जिसमें किसी अनजान नंबर से अधिकतर रात्रि के समय कॉल करके महिला वीडियो कॉल के माध्यम से आप से जुड़ती है, महिला बात करते समय अश्लील हरकत करके अपने कपड़े निकालती है वीडियो के माध्यम से स्क्रीन रिकॉर्डिंग करके आपका चेहरा के साथ निर्वस्त्र महिला का वीडियो रिकॉर्ड कर लिया जाता है। जिसकी सहायता से आपको ब्लैक मेल किया जाता है कि आपकी इस वीडियो रिकॉर्डंग को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया जाएगा तथा आपके सभी कॉन्टेक्ट्स को भी भेज दिया जाएगा। इस प्रकार डराकर आप से धनराशि की मांग की जाती है तथा उसे ऑनलाइन ट्रांसफर करा लिया जाता है।

जिसके कारण विद्यार्थी साइबर अपराध का शिकार हो जा ते है। इसलिए सभी विद्यार्थी को सोशल मीडिया से होने वाले क्राइम से सावधान रहने व साइबर क्राइम से जागरुक रहने की आवश्यकता है। अतः आमजन से अपील है कि साइबर अपराध से सतर्कत रहे। किसी भी अंजान नम्बर से आई वीडियो कॉल से सतर्कता से संपर्क करे। अगर आप इस प्रकार की किसी वीडियो कॉल का शिकार हो जाते हैं तो घबराएं नहीं, न ही किसी को कोई धनराशि ट्रांसफर करें मामले की तुरंत पुलिस सूचना देते हुए संज्ञान में लाएं। इसके लिए हरियाणा पुलिस के द्वारा चलाए गए साइबर शिकायत नम्बर 1930 पर कॉल करके तुरंत रिपोर्ट दर्ज कराएं। साइबर ठग इस प्रकार की वीडियो से आपके अंदर सिर्फ डर बैठाने का प्रयास करते हैं इस प्रकार की वीडियो को अधिकतर मामलों में किसी को नहीं भेजा जाता केवल धनराशि ही ट्रांसफर कराई जाती है। अतः किसी भी सूरत में कोई भी धनराशि ऑनलाइन ट्रांसफर न करें।

पुलिस प्रवक्ता।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here