- Advertisement -spot_img
Tuesday, November 29, 2022
HomeCrime Faridabadयातायात पुलिस ट्रैफिक नियमों के बारे में कर रही जागरूक, वाहन चालकों...

यातायात पुलिस ट्रैफिक नियमों के बारे में कर रही जागरूक, वाहन चालकों को रेड लाइट पर वाहन बंद करके पर्यावरण संरक्षण में योगदान देने के लिए किया प्रोत्साहित

- Advertisement -spot_img

फरीदाबाद: डीसीपी ट्रैफिक नीतीश कुमार अग्रवाल द्वारा आमजन को ट्रिक नियमों के बारे में जागरूक करने के दिशा निर्देश के तहत ट्रैफिक एसएचओ दर्पण कुमार के नेतृत्व में यातायात पुलिस ने प्रदूषण फैलाने वाले वाहन चालकों को पर्यावरण को सुरक्षित रखने के बारे में जागरूक किया।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि यातायात पुलिस आमजन को जागरूक करने का लगातार प्रयास कर रही है और ट्रैफिक पुलिस का यह प्रयास सराहनीय है और यह काफी हद तक सफल भी रहा है। यातायात पुलिस अन्य संस्थाओं के साथ मिलकर स्कूल, कॉलेज, पार्क, बस स्टैंड इत्यादि सार्वजनिक स्थानों पर जाकर जागरूकता अभियान को सफल बनाने में अपना योगदान दे रही है। इसी क्रम में आज यातायात पुलिस ने फरीदाबाद के नीलम चौक पर जागरूकता अभियान चलाते हुए वाहन चालकों को पर्यावरण के हमारे जीवन में महत्व के बारे में उन्हें जागरूक किया और उन्हें लाल बत्ती होने पर अपना वाहन बंद करने के बारे में जानकारी दी। इंडस्ट्रियल सिटी होने के कारण फरीदाबाद का प्रदूषण का स्तर पहले ही बहुत अधिक है। अधिक फैक्ट्रियां होने की वजह से शहर में रोजगार के भी अवसर भी बहुत अधिक बढ़ जाते हैं जिसके साथ साथ वाहनों की संख्या में भी बढ़ोतरी होती रहती है। यह वाहन जब रेड लाइट पर खड़े होते हैं तो इनसे निकलने वाले धुएं से हवा प्रदूषित होती है। हम इसको खत्म तो नहीं कर सकते परंतु लाल बत्ती होने पर वाहन को बंद करके इसे कम अवश्य किया जा सकता है। शहरवासी मिलकर यदि यह कदम उठाए तो वायु प्रदूषण में कमी लाने में इसका एक अहम योगदान रहेगा। इसके अलावा वाहनों के इंजन खराब के कारण वाहन अधिक मात्रा में धुआं छोड़ना शुरू कर देते हैं जिसकी वजह से यह धुआं पर्यावरण में घुलकर प्रदूषण को ओर अधिक बढ़ावा देता है। पर्यावरण प्रदूषण की वजह से अनेक प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती हैं। हाल ही के कुछ सालों में गर्मी साल दर साल बढ़ती जा रही है। वायु प्रदूषण के कारण मनुष्य के शरीर में अनेकों समस्याएं उत्पन्न होती हैं जिसमें सबसे बड़ी समस्या स्वसन तंत्र से संबंधित है क्योंकि यह प्रदूषित हवा हमारे अंदर जाकर फेफड़ों पर बहुत बुरा प्रभाव डालती है जिसकी वजह से मनुष्य का शारीरिक तंत्र बिगड़ जाता है। औद्योगिक विकास के साथ-साथ यह भी आवश्यक है कि पर्यावरण को संतुलित रखा जाए जिसके लिए वाहनों का धुआं रहित अति आवश्यक है ताकि वाहन धुआं ना फैलाएं। वाहन चालकों को जागरूक करते हुए उन्होंने बताया कि आप किसी भी पेट्रोल पंप पर जाकर अपने वाहन का प्रदूषण स्तर चेक करवा सकते हैं और यदि आपके वाहन का पॉल्यूशन लेवल अधिक है तो अपने वाहन को तुरंत सर्विस सेंटर पर ले जाकर इसकी मरम्मत करवाएं ताकि पर्यावरण को सुरक्षित रखकर एक पर्यावरण संतुलित समाज का निर्माण सुनिश्चित किया जा सके।

पुलिस प्रवक्ता।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here