- Advertisement -spot_img
Saturday, December 3, 2022
HomeCrime Faridabadमहिला पुलिस थाना एनआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर माया ने दुर्गा शक्ति टीम के...

महिला पुलिस थाना एनआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर माया ने दुर्गा शक्ति टीम के साथ सरस्वती ग्लोबल स्कूल में पहुंचकर विद्यार्थियों को गुड व बेड टच, सोशल मीडिया से होने वाले क्राइम, दहेज उत्पीड़न, साइबर, यातायात नियमों के बारे में किया जागरूक

- Advertisement -spot_img

फरीदाबाद: डीसीपी मुख्याल श्री नीतिश अग्रवाल के दिशा निर्देशो पर विद्यार्थियों को महिला विरुद्ध अपराध के प्रति जागरूक करने के लिए आज महिला पुलिस थाना एनआईटी प्रभारी व दुर्गा शक्ति टीम ने सरस्वती ग्लोबल स्कूल में निदेशक महोदया मंजुल माहेशश्र्वरी व प्रिंसिपल शमा प्रसाद की उपस्थिति में पहुंचकर विद्यार्थियों को महिला विरुद्ध होने वाले अपराधों के बारे में जागरूक करके महिला सशक्तिकरण का संदेश दिया।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि सरस्वती ग्लोबल स्कूल के सभागार में सभी छात्राओं को गुड व बेड टच, सोशल मीडिया से होने वाले क्राइम, दहेज उत्पीड़न, साइबर, यातायात नियमों के प्रति जागरुक करने का काम कर रही है। उन्होंने बताया कि एक पढ़ी-लिखी नारी अपने अधिकारों को जानती है और वह किसी भी प्रकार के शोषण के विरुद्ध अपनी आवाज उठाने में असमर्थ होती है इसलिए आवश्यक है कि प्रत्येक बच्चे को अपने अधिकारों का ज्ञान होना चाहिए ताकि वह इस समाज की बुराइयों से लड़ सके और अपने हक के लिए आवाज उठा सकें।

उन्होंने बताया कि विद्यार्थी इस सामाजिक जीवन में आज कल मुख्य रुप से सोशल मीडिया से होनो वाले क्राइम को देखते है। इसलिए सभी विद्यार्थी को सोशल मीडिया से होने वाले क्राइम से सावधान रहने व साइबर क्राइम से जागरुक रहने की आवश्यकता है। जिसमे बच्चे अपना अहम योगदान दें। इसके साथ ही विद्यार्थियों को गुड व बैड टच के बारे में जागरूक करते हुए उन्हें बताया कि यदि कोई भी व्यक्ति ने गलत तरीके से स्पर्श करने की कोशिश करता है तो उसके बारे में अपने परिजनों को बताएं क्योंकि यदि वह इसका विरोध नहीं करेंगे वह फिर से उनके साथ गलत हरकत करने की कोशिश करेगा। उन्होंने बताया कि पहले इस बात के बारे में बहुत कम जानकारी होती थी कि गुड टच बैड टच क्या होता है परंतु आजकल इसके प्रति जागरूकता अभियान चलाकर विद्यार्थियों को इसकी जानकारी दी जा रही है इसलिए यदि कोई भी व्यक्ति उन्हें गलत तरीके से छूने की कोशिश करता है तो चुप रहकर इसे सहन करने की कोशिश ना करें क्योंकि यह आगे चलकर उनके शोषण का कारण बन सकता है। इसलिए इसके विरुद्ध एकजुट होकर लड़ाई लड़ें ताकि समाज में महिला सुरक्षा को बढ़ावा दिया जा सके।

इंस्पेक्टर माया ने बताया कि महिला तथा बच्चों की सुरक्षा के लिए पुलिस द्वारा 1091 तथा 1098 नंबर जारी किया गया है, साइबर ठगी के लिए 1930 नम्बर जारी किया है तथा इसके साथ ही डायल 112 प्रोजेक्ट भी शुरू किया जा चुका है जिस पर संपर्क करके आप महिला विरुद्ध होने वाले अपराधों के बारे में पुलिस को सूचित कर सकते हैं। इसके अलावा विद्यार्थियों के मोबाइल में दुर्गा शक्ति एप को डाउनलोड करवाकर इसके बारे में विद्यार्थियों को इसके बारे में जागरूक किया और बताया कि वह किस प्रकार इसका उपयोग करके पुलिस को सूचित कर सकते हैं। पुलिस द्वारा सूचना मिलते ही तुरंत कार्रवाई की जाएगी और अपराधी को जल्द से जल्द सजा दिलवाकर पीड़ित को न्याय दिलवाया जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here