- Advertisement -spot_img
Saturday, December 3, 2022
HomeCrime Faridabadफौज के नाम पर राजनीति क्यों ? "मैं भी फौजी" लिखकर टी-शर्ट...

फौज के नाम पर राजनीति क्यों ? “मैं भी फौजी” लिखकर टी-शर्ट पर लगाई अपनी फोटो। फौज के नाम का किया दुरपयोग।

- Advertisement -spot_img
फौज के नाम का किया गलत इस्तेमाल

फरीदाबाद, वॉर्ड 26 में आम आदमी पार्टी के नेता संजय फौजी ने “मैं भी फौजी” लिखवाकर कार्यकर्ताओं को बांटी टी-शर्ट ! फौज का नाम राजनीति में किया इस्तेमाल।

आम आदमी पार्टी में नगर निगम फरीदाबाद के वार्ड 26 से संजय चौधरी नमक एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी नीलू चौधरी के साथ आम आदमी पार्टी के जिला कार्यालय पर जिला अध्यक्ष धर्मवीर भडाना तथा अन्य सैकडों कार्यकर्ताओं के साथ निगम चुनाव लडने की नियति से पार्टी में ज्वाइन किया था। बताया जाता है कि संजय चौधरी बीएसएफ में कार्यरत है तथा मौजूद हाल में दिल्ली में कार्यरत है। पिछले पांच महीने से संजय चौधरी को चुनाव लडने तथा राजनीति करने का खुम्मार चढ़ा हुआ है इसीलिए वार्ड 26 से अपनी पत्नी के नाम पर चुनाव लडना चाहते है। जनता के बीच अपनी छवि को सही बताने तथा राजनीतिक लाभ लेने के लिए फौज के नाम इस्तेमाल जमकर कर रहे है। जगह जगह फौजी अपने नाम के लगाकर खुद का परिचय देना आम बात है साथ ही साथ अपने साथ काम कर रहे कार्यकर्ताओं को अपने फोटो के साथ “मैं भी फौजी” लिखवाकर बांट रहे है। जब से दिल्ली में अन्ना आंदोलन हुआ और “मैं भी अन्ना, तू भी अन्ना” लिखा गया और प्रचलित हुआ तब से लगातार राजनीति में इस तरह लोग नामो का इस्तेमाल करने लगे। लेकिन ये मामला बिल्कुल अलग है बिना फौज की अनुमति के ऐसा करना फौज के खिलाफ हो सकता है जिसे फौज के नाम का दुर्पयोग माना जा सकता है। “मैं भी फौजी” लिखना या लिखवाना कानूनी अवैध हो सकता है। कुछ सोशल एक्टिविस्टों का कहना है की फौज को इसकी सूचना दी जाएगी तथा उचित कार्यवाही के लिए लिखा जाएगा।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here