Monday, February 6, 2023
spot_img
HomeEducationफरीदाबाद की पुलिस कैसे हुई स्मार्ट ? पढ़ें रिपोर्ट

फरीदाबाद की पुलिस कैसे हुई स्मार्ट ? पढ़ें रिपोर्ट

अपराध पर अंकुश, समाज में शान्ति और सदभावना के साथ कानून की पालना कराने की जिम्मेदारी के साथ आलोचना सुनने वाली पुलिस के रूप को समझना हो तो आईये फरीदाबाद पुलिस द्धारा किये गये कार्यो की पडताल करते है, और समझते है कि पिछले साल 2021 के हिसाब से साल 2022 में कितना बहतर हुई फरीदाबाद पुलिस, दुनिया दिन-प्रति दिन तेजी से आगे बढ रही है, हमारा देश डिजीटल होता जा रहा है, जिन्दगी तेज और तेज होती जा रही है, हर दिन सुधार हो रहे है काम करने के तरीके हो या जबाव देही की जिम्मेदारियॉ, पारर्दिशता लगातार बढती जा रही है, शहर फरीदाबाद भी विकास की तेज गति के साथ खुद को स्मार्ट होने की कतार में खडा करते चला जा रहा है, जितना तेजी से पिछले कुछ सालों में फरीदाबाद की तस्वीर बदली है और बदलने जा रही है इसे नकारा नही जा सकता, भले ही विपक्ष की राजनीतिक धुरी फरीदाबाद की आज की हालात पर टिकी हो, सत्ता पक्ष इसे नये फरीदाबाद बनने की कहानी बता रहा है फरीदाबाद केवल इन्फ्रास्टेक्चर के आधार पर विकसित और स्मार्ट हो जाये ऐसा हो नही सकता। फरीदाबाद की कानून व्यवस्था के साथ-साथ सामाजिक ताने वाले को स्मार्ट करना होगा जिसकी सबसे बडी जिम्मेदारी होती है फरीदाबाद की पुलिस के हाथ में, अगर बात फरीदबाद पुलिस के बदलते परिपेक्ष की करे तो आकड़े तो इस बात की गवाही देते है कि फरीदाबाद के साथ-साथ फरीदाबादक पुलिस भी स्मार्ट होती जा रही है

बात अगर करे 2021 में हुए अपराधों के मुकाबले 2022 में अपराध का स्तर क्या रहा तो बदलते पलिस की कार्यशैली का बल मिलता है। क्राईम डिटेक्शन के मामले में पुलिस का काम बहतर और सराहनीय रहा है, फरीदाबा पुलिस के मुख्यिा विकास अरोडा ने बताया कि नशा तस्करी, अवैध हथियार, जुए तथा शराबा तस्करी के मामलों में साल 2021 से साल 2022 में 67 प्रतिशत की बहतरी हुई है। माना ये जाता है कि नशा तस्करी, अवैध हथियार, जुए तथा शराबा तस्करी जैसे अपराध बडे अपराधों की मूल जड होते है। अगर पुलिस ऐसे अपराधों पर अकुंश लगा लेती है तो बडे अपराधों में भी कमी आना तय माना जाता है।

आकडों पर गौर किया जाये तो साल 2021 में अवैध हथियार रखने वालो के खिलाफ 403 मुक्दमें दर्ज किये गये थे। जबकि 2022 मेें कुल 634 मुक्दमेे दर्ज कर पुलिस विभाग ने 57 प्रतिशत की बढोतरी की, जिसमें 670 आरोपीयों को गिरफतार किया गया। जिनसे कुल 649 हथियार तथा 363 जिन्दा कारतुस बरामद किये गये। नशाखोरी के मामले में भी पुलिस ने साल 2021 में कुल 243 मुकदमे दर्ज किये थें, जबकि साल 2022 में 362 मुकदमे दर्ज किये गये, जो कि साल 2021 के मुकाबले 2022 में 49 प्रतिशत ज्यादा है उक्त 362 मुकदमों में गिरफतार किये गये कुल अपराधी 409 रहे। जिसमें से 553 किलोग्राम गॉजा 576 किलोग्राम भॉग, 1.215 किलो चरस तथा 793 ग्राम स्मैक, 5701 इंजेक्शन, 400 कैप्सूल आदि नशीला पदार्थ जब्त किया गया।  अवैध रूप से शराब बेचने वाले अपराधियों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए फरीदाबाद पुलिस ने साल 2022 में 1272 मुकदमे दर्ज किये जिसमे 1316 अपराधियों को गिरफतार किया गया जिसमें 45038 अग्रेजी व देशी शराब की बोतले बरामद की गयी तो वही 5084 बोतल बीयर पकडी गयी जबकि साल 2021 में यह आकडा मात्र 1173 ही था, साल 2021 के मुकाबले साल 2022 में ये आकडें 46 प्रतिशत अधिक है, जुआ और सटटा खेलने वाले आकडे भी कम दिलचस्व नही है साल 2021 मे अगर 950 मुकदमें दर्ज हुए थे तो साल 2022 में 1902 मुकदमे दर्ज किये गये है जोकि साल 2021 के मुकाबले 94 प्रतिशत अधिक है। जुआ और सटटा खेलने वाले गिरफतार आरोपीयों से 1.23 करोड रूप्ये की नगदी जप्त की गयी, लूट और छेडछाड के मामलों मे 50 प्रतिशत की कमी देखी गयी तो वही स्नैचिंग के मामलों में 25 प्रतिशत तथा चोरी के मुकदमें 13 प्रतिशत कम हुए। अवैध सम्पत्ति अर्जित करने वाले अपराधियों के खिलाफ जमकर कार्यवाही हुई तथा उनके अवैध ठिकानों को निशाना बनाया गया जिसके कारण फरीदाबाद में अपराध करने वालो में भय का माहौल बना, अगर आक़ड़ों के हिसाब से देखा जाये तो फरीदाबाद पुलिस ने 2021 के मुकाबले 2022 में बहतरीन काम किया जिसका श्रेय सहज स्वभावी, निश्पक्ष विचारधारा वाले पुलिस कमीशनर विकास अरोडा को दिया जा सकता है। वैसे तो फरीदाबाद पुलिस टीम का प्रत्येक एक व्यक्ति इस लिये बधाई का पात्र है लेकिन टीम लीडर की लीडरशिप को सफलता श्रेय जाता ही है। अगर इसी तरह से साल 2023 में स्थितियॉ बदलती रही और अपराध का ग्राफ सुधरता रहा तो फरीदाबाद के स्मार्ट बनाने में पुलिस प्रशासन के योगदान को नकारा नही जा सकता। पुलिस विभाग द्धारा कोरोना काल से लेकर जल भराव जैसी आपदाओं में पुलिस ने बहतरीन प्रदर्शन कर अपनी छवि को बहतर बनाने के साथ-साथ सुधार के आकडों में बेहतसास बृद्धि की है, अगर अन्य विभाग भी इसी तरह अपने कार्य के प्रति समर्पित हो तो फरीदाबाद को सर्वश्रेष्ठ शहर बनाने से कोई रोक नही सकता, शहर के प्रत्येक एक व्यक्ति का ये दायत्वि है कि शहर को बहतर बनाने में अपना योगदान दे

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments