- Advertisement -spot_img
Saturday, December 3, 2022
HomeEducationपत्रकारों, सामाजिक संगठन एवं आरटीआई एक्टिविस्ट पर हो रहे हैं झूठे मुकदमे...

पत्रकारों, सामाजिक संगठन एवं आरटीआई एक्टिविस्ट पर हो रहे हैं झूठे मुकदमे दर्ज : सेव फरीदाबाद

- Advertisement -spot_img


फरीदाबाद, 21 सितंबर : फरीदाबाद में लगातार पत्रकारों, सामाजिक संस्थाओं एवं आरटीआई कार्यकर्ताओं पर हो रहे अत्याचार एवं अनाचार को लेकर सेव फरीदाबाद संस्था ने गोल्फ क्लब, एनआईटी फरीदाबाद में प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। जिसमें संस्था के संयोजक पारस भारद्वाज, वरिष्ठ अधिवक्ता ओ पी शर्मा एडवोकेट, समाजसेवी वरुण श्योकंद, वरिष्ठ पत्रकार के एल गेरा, डॉक्टर विंध्या गुप्ता मौजूद रहे। प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए पारस भारद्वाज ने कहा कि हाल में एसएसजी हॉस्पिटल के संचालक डॉ श्याम सुंदर बंसल द्वारा शहर के एक वरिष्ठ पत्रकार सौरभ भारद्वाज के खिलाफ रंजिश के तहत कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराया गया। यह कहीं ना कहीं पत्रकारों के हितों पर कुठाराघात है। एक पत्रकार शहर के ज्वलंत मुद्दों और सिस्टम के खिलाफ काम करने वाले लोगों की खबर दिखाकर लोगों को जागरूक करने का काम करता है, तो इसका मतलब ये नहीं कि आप अपनी पावर और पैसे का इस्तेमाल कर उनको प्रताड़ित करने का काम करेंगे। पिछले कुछ समय से इस तरह का प्रचलन शहर में लगातार बढ़ता जा रहा है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि से फरीदाबाद संस्थान लगातार पत्रकारों सामाजिक संस्थाओं एवं समाज कल्याण क्षेत्र में काम करने वाले लोगों का सहयोग करती रहेगी। उनको किसी भी तरह कि कानूनी, शारीरिक एवं मानसिक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। इस मौके पर वरिष्ठ अधिवक्ता ऑफिस शर्मा ने जुडिशरी पर सवाल उठाते हुए कहा कि कानून व्यवस्था का लगातार ह्रास हो रहा है। कुछ दलाल किस्म के लोग एवं कॉर्पोरेट घराने कानून व्यवस्था को भी खरीदने से नहीं हिचकिचाते। एसएसबी हॉस्पिटल के संचालक डॉ श्याम सुंदर बंसल की झांकी बात है, उन्होंने हमेशा ही लोगों को लूटने और उनकी जेब पर डकैती डालने का काम किया है। समाज हित में उनका कोई योगदान नहीं है वह लोगों का शोषण करने सोच के साथ अपने साम्राज्य को लगातार बढ़ा रहे हैं। समाजसेवी वरुण श्योकंद ने कहा कि वर्तमान सरकार में सिस्टम पूरी तरह फेल है। नहरपार धड़ल्ले से अवैध काम हो रहे हैं इनकी खिलाफ आवाज उठाने वालों को या तो मारपीट करके या उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करके प्रताड़ित किया जाता है। प्रेसवार्ता में उपस्थित पत्रकारों को संबोधित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार के एल गेरा ने जानकारी दी कि एसएसबी हॉस्पिटल जो चलाया जा रहा है, वो फर्जीवाड़ा से चलाया जा रहा है। कानूनी रूप से यह जमीन अब भी सेंट्रल हॉस्पिटल के नाम पर है। बंसल एक माफिया है और सरकार को करोड़ों रुपए का चूना लगाकर लोगों की मौत पर अपनी रोटियां सेंक रहे हैं।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here