- Advertisement -spot_img
Saturday, December 3, 2022
HomeCrime Faridabadनशा तस्कर बिजेंद्र उर्फ लाला और उसके परिवार द्वारा नशा तस्करी से...

नशा तस्कर बिजेंद्र उर्फ लाला और उसके परिवार द्वारा नशा तस्करी से की गई कमाई से ढाई एकड़ जमीन पर बनाई गए सै० 22 मे 3 मकान 18 दुकाने 3 बडे गोदाम और 1 ऑफिस को फरीदाबाद पुलिस और जिला प्रशासन ने किया ध्वस्त

- Advertisement -spot_img

फरीदाबाद पुलिस का अपराधियों पर बड़ा प्रहार, नशा तस्कर लाला द्वारा अवैध नशे की कमाई से अवैध कब्जे करके बनाई गई 25 इमारतों को ध्वस्त कर उसके काले साम्राज्य का किया अंत

लाला और उसके परिवार के अपराधों को लिस्ट बहुत लंबी, हत्या, हत्या का प्रयास, एनडीपीएस, लड़ाई झगड़ा व अवैध शराब के 32 मुकदमे दर्ज हैं जिसमे 21 मुकदमे लाला के खिलाफ, 7 उसके भाई कन्हैया, 3 लाला की साली तथा 1 मकदमा लाला की मां के खिलाफ है

डीसीपी एनआईटी के नेतृत्व में कल फ्लैग मार्च निकालकर चेताया गया था , जिला प्रशासन द्वारा कब्जे हटाने का नोटिस दिया गया था।

फरीदाबाद: अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए जिला प्रशासन एवं फरीदाबाद पुलिस लगातार प्रयास कर रही है। सरकार के आदेश अनुसार इसी क्रम में आज बड़ी कार्रवाई करते हुए नशा तस्कर बिजेंद्र उर्फ लाला द्वारा अवैध तरीके से कमाई करके सेक्टर 22 ऐरिया मे बनाई गई 25 इमारतें जो सरकारी जमीन पर बनी हुई थी को ध्वस्त किया है। तोड़फोड़ के दौरान जिला प्रशासन द्वारा नियुक्त ड्यूटी मजिस्ट्रेट के अलावा डीसीपी क्राइम मुकेश मल्होत्रा, डीसीपी एनआईटी नरेंद्र कादियान, एसीपी विष्णु प्रसाद ,एसीपी सुखबीर सिंह, एसएचओ मुझेसर सहित भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर मौजूद रहा। जिनकी देखरेख में तोड़फोड़ की सारी कार्रवाई शांतिपूर्वक तरीके से संपन्न की गई।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि नशा तस्करी के खिलाफ फरीदाबाद पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। पिछले कुछ दिनों में फरीदाबाद पुलिस ने अवैध तरीके से कमाई गई काफी संपत्ति ध्वस्त की है। आज फरीदाबाद पुलिस ने नशा तस्कर बिजेंद्र उर्फ लाला पुत्र जॉनी द्वारा नशा व शराब तस्करी करके केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की भूमि पर अवैध कब्जा करके बनाए गए गई इमारतों 25 इमारतों को ध्वस्त किया है जिसमे 18 दुकानें, 3 मकान, 3 गोदाम व 1 ऑफिस शामिल है। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग की करीब ढ़ाई एकड़ जमीन पर कई जगह अवैध कब्जे किए हुए थे जिसे कब्जा मुक्त करवाकर सीपीडब्ल्यूडी के हवाले किया गया।

प्रशासन द्वारा अवैध कब्जे हटाने का नोटिस दिया गया था। इसके पश्चात जिला उपायुक्त विक्रम कुमार के दिशा निर्देश पर नायब तहसीलदार बड़खल सुरेश कुमार, नायब तहसीलदार धौज करण कुमार तथा एमसीएफ एक्सईएन पदम भूषण को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया। तोड़फोड़ से एक दिन पहले डीसीपी एनआईटी नरेंद्र कादियान के नेतृत्व में फ्लैग मार्च भी निकाला था। नशा तस्कर लाला व उसके परिजनों के अपराधों की लिस्ट बहुत लंबी है। शुरू में वह शराब तस्करी करने लगा और वर्ष 2011 से अवैध मकान बनाकर रह रहा है। इसके पश्चात आरोपी हत्या, नशा तस्करी, लड़ाई झगड़ा जैसी वारदातों में शामिल रहा। आरोपी लाला और उसके परिवार के खिलाफ फरीदाबाद में 32 मुकदमे दर्ज हैं जिसमें 21 मुकदमे लाला के खिलाफ, 7 उसके भाई कन्हैया, 3 लाला की साली तथा 1 लाला की मां के खिलाफ है। लाला कई बार जेल की हवा खा चुका था। आज फरीदाबाद पुलिस और जिला प्रशासन द्वारा लाला द्वारा अवैध तरीके से बनाई गई इमारतों को ध्वस्त करके अपराधी लाला के काले साम्राज्य को खत्म किया गया है।

फरीदाबाद पुलिस की अपराधियों को कड़े शब्दों में चेतावनी है कि या तो वह गलत धंधे छोड़कर कोई अच्छा काम शुरू कर दें। पुलिस द्वारा अवैध रूप से संपत्ति अर्जित करने वाले अपराधियों की सूची तैयार की जा रही है जिनके खिलाफ फरीदाबाद पुलिस की कार्रवाई इसी प्रकार जारी रहेगी।

पुलिस प्रवक्ता।

- Advertisement -spot_img
- Advertisement -spot_img
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -spot_img
Related News
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here